vrsamachar
ENTERTAINMENT

बैक टू बैक 15 सुपरहिट फिल्में देकर रचा इतिहास, जिनके गाड़ी की धूल से लड़कियां भरती थीं मांग, कुछ ऐसा था इंडियन सिनेमा के पहले सुपरस्टार का सुपरस्टारडम,

आज इंडियन सिनेमा के एक ऐसे स्टार की बर्थ एनिवर्सिरी हैं। जिन्होंने हिंदी सिनेमा को पुष्पित और पल्लवित करने में एक अहम योगदान दिया। ब्लैक एंड वाइट सिनेमा से लेकर कलरफुल स्क्रीन में इनकी फिल्मों ने एक अलग लेवल का रिकॉर्ड कायम किया। जिसे तोड़ पाना हर किसी के बस में नही। सारी दुनिया इस …

बैक टू बैक 15 सुपरहिट फिल्में देकर रचा इतिहास, जिनके गाड़ी की धूल से लड़कियां भरती थीं मांग, कुछ ऐसा था इंडियन सिनेमा के पहले सुपरस्टार का सुपरस्टारडम,
X

आज इंडियन सिनेमा के एक ऐसे स्टार की बर्थ एनिवर्सिरी हैं। जिन्होंने हिंदी सिनेमा को पुष्पित और पल्लवित करने में एक अहम योगदान दिया। ब्लैक एंड वाइट सिनेमा से लेकर कलरफुल स्क्रीन में इनकी फिल्मों ने एक अलग लेवल का रिकॉर्ड कायम किया। जिसे तोड़ पाना हर किसी के बस में नही। सारी दुनिया इस स्टार को इंडियन सिनेमा के पहले सुपरस्टार के रुप में जानती हैं। आप समझ ही चुकें होंगे हम हिंदी सिनेमा के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना की बात कर रहे हैं। जिन्होंने बैक टू बैक 15 सुपरहिट फिल्में देकर इंडियन सिनेमा में कभी ना टूटने वाला रिकॉर्ड बना दिया। जिसे सदी के महानायक अमिताभ बच्चन से लेकर सलमान, शाहरुख और अक्षय कुमार आज तक तोड़ नही पाए।

राजेश खऩ्ना साहब को दुनिया काका के नाम से जानती हैं। जिन्होंने साल 1967 में आई फिल्म आखिरी खत से हिंदी सिनेमा में कदम रखा। इस फिल्म को चेतन आनंद ने डायेरक्ट किया था। जिसे दर्शको ने ठीक ठाक रिस्पांस दिया। इस फिल्म के जरिए वे इंड्रस्ट्री में आ तो गए लेकिन उन्हें कुछ खास पहचान नही मिल पाया। इस दौरान उन्होंने राज, बहारों के सपने और औरत जैसी फिल्मे में काम किया। वे दिलीप कुमार के स्टारडम ,शम्मी कपूर के डांस और देवानंद साहब के रोमांस के पीछे दब से गए और दर्शकों ने अपने पहले सुपरस्टार को नोटिस तक नही किया।

आधा दर्जन फिल्मों में बतौर हीरो काम करने के बावजूद वे लगातार संघर्ष कर रहे थे। लेकिन उन्हें कुछ खास सफलता नही मिल पा रही थी। उनके वीरान पड़े फिल्मी सफर में बहार लाने का काम साल 1969 में आई फिल्म अराधना ने की। जिसने बॉक्स ऑफिस पर सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले। वो रातोंरात राइजिंग स्टार बन गए। शर्मिला टेैगोर और उनकी जोड़ी जवां दिलो की धड़कन बन गई और यहीं से शुरु हुआ स्टार राजेश खन्ना से सुपरस्टार राजेश खन्ना बनने का सुनहरा सफर।

अराधना फिल्म सफल होने के बाद उन्होंने इतेफाक,डोली,बंधन आनंद ,अंदाज, कटी पतंग जैसी सुपरहिट फिल्में की झड़ी लगा दी। देखते ही देखते वे सभी वर्ग के दर्शकों की पहली पसंद बन गए। उनकी फिल्में हर रोज एक नया रिकॉर्ड बना रही थी। जिसे उस समय का कोई भी स्टार तोड़ नही पा रहा था। चेहरे में हल्की मुस्कान लिए आखें मिचाकर जब वे डॉयलाग बोलते तो सिनेमा हॉल में सिटी और ताली की बाढ़ आ जाती। प्रेमिका से प्यार का इजहार करना हो या फिर जय जय शिव शंकर कहकर मस्तमौला अंदाज में डांस करना हो राजेश खऩ्ना हर अंदाज में एक अलग छाप छोड़ जाते। शर्मिला टैगोर और मुमताज के साथ उनकी जोड़ी को दर्शक काफी ज्यादा पसंद करते। शायद इसी कारण इन दोनो हीरोइन के साथ खऩ्ना साहब ने सबसे ज्यादा काम किया।

काका की प्रोफेशनल लाइफ जितनी सक्सेसफुल रही उतनी ही कंट्रोवर्सी से भरी उनकी पर्सनल लाइफ भी रही। 17 साल की डिंपल कंपाड़िया से शादी कर उऩ्होनें पूरी दुनिया को चौका दिया। टीना दाबी से अफेयर हो या मुमताज से रोमांस काका हमेशा सुर्खियों में रहें। अपने से 20 साल छोटी जया पर्दा को लिप टू लिप किस करके उन्होंने फिल्म जगत में बवाल मचा दिया। अपने कैरियर के अंतिम दिनो में राजेश खन्ना ने वफा नाम की बी ग्रेड फिल्म मे काम किया। जिसने एक बार फिर बवाल मचा दिया। फिल्मी काफी विवादित रही और खन्ना साहब का कमबैक असफल रहा। तमाम उतार चढ़ाव देखने के बाद काका ने 18 जुलाई 2012 को दुनिया को अललिदा कह दिया।

Next Story
Share it