vrsamachar
SPECIAL STORY

इस खतरनाक दवा के असर से जॉम्बी बन रहे लोग, सड़ रही लोगों की स्किन, चौंकाने वाले है इसके लक्षण, देखें वीडियों…

नई दिल्ली : अमेरिका में एक दवा ने लोगों के बीच हड़कंप मचा दिया है। इस दवा के इस्तेमाल से लोगों का चेहरा सड़ने लग रहा है, वहीँ कई लोगों की स्किन इतनी ज़्यादा सड़ जा रही है कि उस जगह को काटना पड़ रहा है। इस दवा का नाम जाइलाज़ीन (Xylazine) है, अब इस …

इस खतरनाक दवा के असर से जॉम्बी बन रहे लोग, सड़ रही लोगों की स्किन, चौंकाने वाले है इसके लक्षण, देखें वीडियों…
X

नई दिल्ली : अमेरिका में एक दवा ने लोगों के बीच हड़कंप मचा दिया है। इस दवा के इस्तेमाल से लोगों का चेहरा सड़ने लग रहा है, वहीँ कई लोगों की स्किन इतनी ज़्यादा सड़ जा रही है कि उस जगह को काटना पड़ रहा है। इस दवा का नाम जाइलाज़ीन (Xylazine) है, अब इस दवा को जॉम्बी ड्रग के नाम से जाने जाना लगा है। इसके सेवन के बाद लोगों की त्वचा धीरे-धीरे सड़ रही है। इस दवा को लेकर यह दावा किया जा रहा है कि यह इंसानों को जॉम्बी के रूप में बदल रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जो लोग भी इस दवा का सेवन कर रहे हैं वो धीरे धीरे ज़ॉम्बी जैसी हरकते करने लग रहे हैं। एक्सपर्ट की माने तो, इस दवा का इस्तेमाल पशुओं को बेहोश करने में किया जाता है, लेकिन अब इसका इस्तेमाल हेरोइन जैसे ड्रग्स के तौर पर भी किया जा रहा है।

क्या है जॉम्बी ड्रग Xylazine
बता दें कि अमेरिका में जाइलाजाइन नामक दवा का इस्तेमाल बढ़ रहा है। आमतौर पर इस दवा का इस्तेमाल जानवरों पर किया जाता है, जिससे जानवरों को बेहोश करने में मदद मिलती है। लेकिन अमेरिका के कई शहरों में युवा भी इस दवा को बतौर ड्रग इस्तेमाल कर रहे हैं और इससे उन्हें भी बेहोशी जैसी नींद आना, सांसे धीमी हो जाने की समस्या हो रही है। बार-बार इस ड्रग का इस्तेमाल करने वाले या फिर ज्यादा डोज लेने वाले लोगों की मौत भी हो रही है। साथ ही इस ड्रग के इस्तेमाल से लोगों की त्वचा सड़ रही है और वह जॉम्बी जैसे दिख रहे हैं।

दरअसल ड्रग के साइड इफेक्ट से पीड़ितों के शरीर पर घाव हो रहे हैं और अगर इस पर ध्यान ना दिया जाए तो इससे त्वचा की कोशिकाएं मृत हो जाती हैं। ऐसे में उस अंग को काटना पड़ रहा है। कई बार इस दवाई के असर से व्यक्ति लंबे समय तक अर्द्ध बेहोशी की हालत में रहता है, जिससे उसके सड़क हादसे की चपेट में आने या फिर यौन शोषण होने का भी खतरा है।

जाइलाजाइन को फेनटानिल के साथ मिलाकर ट्रैंक डोप तैयार की जा रही है, जिसे नशे के तौर पर युवाओं द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा है। चिंता की बात ये है कि यह ट्रैंक डोप अमेरिका की सड़कों पर आसानी से उपलब्ध हो जा रही है।

Next Story
Share it