vrsamachar
SPECIAL STORY

ये खेती कराएगी मोटी कमाई, कम लागत में होगा ज्यादा मुनाफा, जाने खेती करने का आसान तरीका

काली मिर्च की खेती कर कमा सकते लाखो रुपये, कम लागत में होगा ज्यादा मुनाफा, जाने खेती करने का आसान तरीका। भारतीय मसालों की महक पूरी दुनिया में महसूस की जाती है। दुनिया भर में हमारे देश के मसालों की मांग बहुत ज्यादा मात्रा में हो रही है। आपको बता दे मसालों के निर्यात में …

ये खेती कराएगी मोटी कमाई, कम लागत में होगा ज्यादा मुनाफा, जाने खेती करने का आसान तरीका
X

काली मिर्च की खेती कर कमा सकते लाखो रुपये, कम लागत में होगा ज्यादा मुनाफा, जाने खेती करने का आसान तरीका। भारतीय मसालों की महक पूरी दुनिया में महसूस की जाती है। दुनिया भर में हमारे देश के मसालों की मांग बहुत ज्यादा मात्रा में हो रही है। आपको बता दे मसालों के निर्यात में हमारा देश पहले स्थान पर है। मसाला फसलों का क्षेत्रफल विस्तृत है और लगभग सभी मसालों की खेती देश के किसान करते हैं। आइये जानते है किस मसाले की खेती करके आप महीनो के लाखो रुपये कमा सकते है।

काली मिर्च की खेती से कमा सकते अच्छा मुनाफा
आपकी जानकारी के लिए बता दे देश और अंतरराष्ट्रीय स्तर मसालों की मांग निरंतर बढ़ रही है। इन मसालों में से एक है काली मिर्च। काली मिर्च (Black pepper) की खेती करने वाले किसानों को अच्छा लाभ मिलता है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसकी खेती के लिए विशेष देखभाल और पूंजी की आवश्यकता नहीं होती है। यह बहुत महंगा भी बिकता है, जिससे खेती करने वाले किसानों को लाभ मिलता है।

काली मिर्च की खेती के मामले में केरल नंबर वन बना है
जानकारी के लिए बता दे काली मिर्च (Black pepper) का प्रयोग गर्म मसाले के रूप में किया जाता है। काली मिर्च (Black pepper) की खेती महाराष्ट्र और पुडुचेरी के अलावा भारत, केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप इलाको में की जाती है। काली मिर्च (Black pepper) की खेती के मामले में केरल नंबर वन बना हुआ है। काली मिर्च के उत्पादन का 98 % केरल राज्य से ही किया जाता है।

काली मिर्च की खेती के लिए मिट्टी होना चाहिए सबसे उपयुक्त
आपको बता दे काली मिर्च (Black pepper) की खेती के लिए तेज धूप और उचित नमी वाले वातावरण की जरुरत होती है। यदि तापमान 10 से 40 डिग्री के बीच हो और आर्द्रता 60 से 70 % केबीच हो तो यह काली मिर्च की खेती के लिए सही साबित हो सकती है। ऐसा मौसम तटीय क्षेत्रों में आसानी से मिल जाता है। इसी वजह से केरल में काली मिर्च (Black pepper) की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है। इसकी खेती के लिए मिट्टी सबसे उपयुक्त मानी जाती है। यदि खेत का पीएच मान 4.5 से 6 के बीच हो तो बेहतर उत्पादन किया जा सकता है। काली मिर्च (Black pepper) के पौधे बेल की तरह उगते हैं। इसलिए उन्हें बढ़ने के लिए ऊंचे पेड़ों की जरूरत होती है। काली मिर्च को अलग-अलग खेतों में लगाने की बजाय ऊंचे पेड़ों वाले बागों में काली मिर्च की खेती की जाती है।

काली मिर्च की खेती दो चरणों में होती है
काली मिर्च (Black pepper) की खेती दो चरणों में होती है। पहले चरण में काली मिर्च के पौधे को तैयार किया जाता है। और दूसरे चरण में इसकी रोपाई की जाती है। वृक्षारोपण पेड़ों की जड़ के पास किया जाता है। नर्सरी तैयार करने के लिए गांठ वाली शाखाओं को पुरानी लताओं से काट दिया जाता है। उन्हें मिट्टी और खाद से भरे पॉलीथिन की थैलियों में डाल दिया जाता है। इस प्रक्रिया के 50 से 60 दिनों के बाद काली मिर्च (Black pepper) के पौधो की रोपाई के लिए तैयार हो जाती है। रोपाई के लिए हाथ चौड़ा और पर्याप्त गहरा गड्ढा खोदा जाता है। रोपाई के तुरंत बाद काली मिर्च (Black pepper) को सिंचाई की जरुरत पड़ती है।

काली मिर्च से कमा सकते लाखो रुपये
आपकी जानकारी के लिए बता दे काली मिर्च (Black pepper) को दिन में दो बार सिंचाई की आवश्यकता होती है। समय बीतने के बाद सप्ताह में एक बार ही सिंचाई की जाती है। इसके बाद 15 से 20 दिन में खरपतवार निकालते रहते हैं। जब पौधे ऊपर चढ़ने लगें तो प्रूनिंग अवश्य करें। इसके लताओं के विकसित होने के बाद उन पर हरे रंग के गुच्छे दिखने लगते हैं। जब गुच्छों में एक से अधिक फल दिखाई देते हैं। कटाई का काम पूरा करने में 2 महीने का समय लगता है। आम तौर पर एक पौधे से डेढ़ किलो सूखी काली मिर्च (Black pepper) प्राप्त कर सकते है। काली मिर्च (Black pepper) की खेती से आप भी लाखो रुपये की तगड़ी कमाई कर सकते है।

Next Story
Share it